X Close
X

अंतिम बजट है पूरी तर्ज से चुनावी बजट : डॉ जमाल


Ajmer:

कुल मिलाकर यह बजट मीठी चाशनी में लिपटा हुआ एक भ्रामक चुनावी और घोर निराशाजनक बजट है जिससे ग़रीबों को कुछ भी लाभ नही होने वाला है : डॉ0 सैय्यद जमाल

गोरखपुर । मोदी सरकार के आज पेश हुए बजट पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व महामंत्री डॉ0 सैय्यद जमाल ने कहा की मोदी सरकार अपने अस्तित्व में आने के 5 वर्षों तक मे प्रत्येक बजट में जनता के कष्ट को निरंतर बढ़ाती रही और लोगों को निराश करती रही। डॉ0 जमाल ने कहा कि अल्पकालिक समय हेतु अपने अंतिम बजट को चुनावी बजट बनाने का प्रयास करते हुए अनेक लोकलुभावन वादे किए जा रहे हैं।

जबकि उनको अच्छी तरह पता है कि इसे पूरा करने के लिए वह अब सरकार में नही रहने वाले हैं। अगर वास्तव में मोदी सरकार लोगों को वर्तमान बजटीय सुविधाएं देने की नीयत रखती ही थी तो उसे इन बजटीय सुविधाओं की घोषणा पहले ही करनी चाहिए थी। डॉ0 जमाल ने कहा कि इससे स्पष्ट है कि मोदी सरकार की नीति – नीयत दोनों लोकहितपरक न होकर केवल सत्तालोलुपता की है। डॉ0 जमाल ने कहा कि किसानों को 6000 वार्षिक, 17 रुपये प्रति परिवार प्रतिदिन अर्थात 3 रुपये प्रति व्यक्ति देने की बात करना किसानों के स्वाभिमान का मज़ाक उड़ाना है।

डॉ0 जमाल ने कहा कि बड़े दुख की बात है कि इस बजट में भी उन लोगों के लिए कुछ भी नही है जो आज तक वेतन पाने या करदाता बनने का सौभाग्य प्राप्त नही कर पाए हैं। बेरोज़गार युवकों, किसानों, कमज़ोर वर्गों, अल्पसंख्यकों, दस्तकारों, बुनकरों और मेहनतकशों आदि के लिए कुछ नही किया गया है।

डॉ0 जमाल ने कहा कि बढ़ती मंहगाई से त्रस्त आम जनता और गृहस्थी के बिगड़ते असंतुलित होते जा रहे घरेलू बजट के राहत के लिए कुछ नही किया गया है। डॉ0 जमाल ने कहा कि कुल मिलाकर यह बजट मीठी चाशनी में लिपटा हुआ एक भ्रामक चुनावी और घोर निराशाजनक बजट है जिससे ग़रीबों को कुछ भी लाभ नही होने वाला है।

The post अंतिम बजट है पूरी तर्ज से चुनावी बजट : डॉ जमाल appeared first on संस्कार न्यूज़.